वाह रे PDS का खेल बैर कराती मन्दिर मस्जिद ………..

वाह रे PDS का खेल बैर कराती मन्दिर मस्जिद ………..
शासकीय उचित मूल्य की दुकान आवंटन से लेकर वितरण अटैचमेंट का जो कुछ खेल खाद्य निरीक्षक और अनुविभागीय अधिकारी महोदय के दफ्तर में चल रहा है उस पर न तो कलेक्ट्रेट का हस्तक्षेप है न सरकार का इससें साफ जाहिर है फुड इंस्पेक्टर कार्यालय अधिकारियों और नेताओं का कलेक्शन एजेंट के तौर पर हर माह लाखों रुपये का खुलेआमलूट खसोट कालाबाजारी हो रहा है।
छत्तीसगढ़ के पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के तर्ज पर सायकल मोटर सायकल टूटी चप्पल पहन कर सवारी कर संघर्ष करने वाले काँग्रेसियों का वक्त है बदलाव का सपना साकार होने वाला है चाहे मामला रेत घाट खनिज का हो या शासकीय उचितमूल्य दुकान आवंटन कर दरियादिली दिखाने का मकसद साफ है ,जिसमे भी विधानसभा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव जैसे दलबदलू भारी पड़ जाय तो कोई आश्चर्य नहीं………………? जिसके आड़ में जिले में जम कर लूट मचा हुआ है। खाद्य विभाग के मैदानी अमला को बात करने तक का फुरसत नही है, साफ मकसद है भ्रष्टाचार …….. ?
जिसका जीताजागता उदाहरण है पिहरीद – मालखरौदा शासकीय उचित मूल्य दुकान जिसका संचालन ग्राम पंचायत पिहरीद द्वारा किया जा रहा था जिसे अमेराडीह पंचायत के महिला समूह के छद्म नाम से फर्जी दुकान में महिनों से अटैचमेंट चल रहा है। जबकि पिहरीद में सेवा सहकारी समिति पंजीकृत है। वहीं अब बडेरबेली दुकान पिहरीद सोसायटी में अटेज से भ्रष्टाचार का सब पोल खुल गया BJP – Congress गठजोड़ से हरिवंश राय जी बच्चन का याद आना स्वभाविक है।
खाद्य विभाग में पदस्थ चतुर चालक प्रधान पर कौन छुटभैय्ये का बरद हस्त है आखिर माजरा क्या ……………?
सक्ती तहसील के शासकीय उचित मूल्य दुकानों में जो अनियमितता भ्रष्टाचार कालाबाजारी मृतकों एवं पलायनकारियो के नाम खेल राशनकार्ड राशन वितरण में कौन मास्टर माइंड काम कर रहा है फूड इंस्पेक्टर फूड इंस्पेक्टर ……
क्या नव पदस्थ अनुविभागीय अधिकारी अंगद के पाव की तरह
सक्ती में वर्षों से जमे करोड़ों के वारा न्यारा करनेवाले फूड इंस्पेक्टर को नियत मुख्यालय भेज कर इनके काले कारनामों में बिराम लगाने में कहां तक सफल होते हैं……………?
— गोपाल शर्मा …

Related posts

Leave a Comment